डिवाइन हार्ट एवं मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल में नेत्र विभाग एवं डायलिसिस यूनिट
का शुभारम्भ

डिवाइन हार्ट एवं मल्टीस्पेशिलिटीं हॉस्पिटल गोमतीनगर में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया
और नेत्र विभाग एवं डायलिसिस यूनिट की शुरुआत की गई। उक्त कार्यक्रम में अपने विचार
व्यक्त कते हुए सुविख्यात हार्ट सर्जन एवं संस्थान के संस्थापक प्रबंधक डॉ० (प्रोफेसर) ए०
के ० श्रीवास्तव ने कहा कि जो वास्तविक चिकित्सक होता है वह अपने मरीजों को अपने
परिवार के सदस्य के रूप में इलाज कस्ता है। मरीज के परिजन उसे पूर्ण विश्वास के साथ
चिकित्सक को सौंपते है । यह चिकित्सक का धर्म है कि वह अपने मरीज को अच्छे से अच्छी
स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान करने में कोई कसर न रखे। विरव्यात हृदय रोग विशेषज्ञ पदम श्री डॉ०
मंसूर हसन ने याहा कि चिकित्सा धर्म बडा पवित्र है और चिकित्सक का धर्म है कि मानवता
की सेवा में स्वयं को समर्पित कर दें। नेत्र विभाग का उदघाटन कस्ते हुए कार्यक्रम के मुख्य
अतिधि डॉ० उपशम गोयल ने डायबिटीज मरीजों में रूटीन नेत्र जांच कराने की सलाह दी
और यह उम्मीद जताई है कि डिवाइन अस्पताल में बच्चों के लिए भी नेत्र सम्बन्धी आँपरेटिव
सुविधा उपलब्ध होगी। हॉस्पिटल में नेत्र चिकित्सक डॉ० प्रसून पाण्डेय ने नेत्र विभाग को
प्रदेश का सर्वश्रेष्ठ विभाग बनाने के लिए अपना योगदान देते का प्रण लिया। डिवाइन
अस्पताल में डायलिसिस को सेवा शुरुआत करते हुए डॉ० नरेन्द्र राय ने को के साथ बच्चों
के लिए सेवा की भी योजना बनायी है । समारोह में डॉ0 पंकज कूमार श्रीवास्तव, मेडिकल
डायरेक्टर ने मल्टीस्पेशिलिटी के विस्तार के बारे में बताया। अटेंडेंट के रूप से सपरिवार
कार्यक्रम में उपस्थित एसोसिएट प्रोफेसर डॉ० विजय कुमार मिश्र ने समस्त परिवारीजनों के
साथ पुष्प गुच्छ प्रदानकर प्रो० ए० के ० श्रीवास्तव को सम्मानित किया।अंत मे श्रीमती आभा
श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापन किया ।